मायावती के चहेते ने उगला ज़हर, मुस्लिम दलित एक हो तो हिन्दूओ से करवाएगे जूते साफ़ और ….

जहाँ एक तरफ मोदी सरकार और उनके विकास कार्यों को देखते हुए अनुमान यही लगाया जा रहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी को फिर से बहुमत मिलेगा और अगले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही होंगे लेकिन साथ ही विरोधी दल की कोशिश यही होती है, कि वो मोदी सरकार के इस विजय रथ को कैसे रोकें.

इन सबको देखते हुए सभी विरोधियों के होश तो उड़े ही हैं लेकिन साथ ही ऐसे में विरोधी दल अपनी हरकतों से बाज नही आ रहा है .आपको बता दे की लखनऊ में बसपा के राष्ट्रीय महा सचिव नासिमुद्धीन सिद्दीकी ने बरेली में दलित मुस्लिम कार्ड खेलते हुए कहाँ है की जिस दिन दलित और मुस्लिम एक हो जायेगे उस दिन पूरे हिंदुस्तान पर मुसलमानों का राज होगा .

नासिमुद्धीन सिद्दीकी की इस विचार धारा को सुनने के बाद तो साफ़ है की आखिर कार बहुजन समाज पार्टी की विचार धारा क्या है दरअसल, एक जनसभा को सम्भोदित करते हुए नासिमुद्धीन सिद्दीकी ने कहाँ है की करोडो मुस्लमान अपनी बदहाली का रोना रो रहे है एक समय था जब 313 मुसलमानों ने ही पूरे दुनिया पर झंडे गाड़ दिए थे और मुसलमानों ने 600 वर्ष तक हिंदुस्तान पर राज किया था,जिस दिन दलित मुस्लमान एक हो गए उस दिन हिंदुस्तान की हुकूमत मुसलमानों के कदम चूमेगी .

नासिमुद्धीन सिद्दीकी ने मुसलमानों के वोटो को एकजुट करने की कोशिश की उन्होंने कहाँ की, एक से डेड प्रतिशत वाले सिख और इसाईयो के काम हो रहे है और मुसलमानों को रोना पड़ रहा है ऐसा इसलिए हो रहा है क्योकि सिख और इसाईयो के साथ उनकी बिरादरी उनके साथ चलती है .

नासिमुद्धीन सिद्दीकी के इस बयान से ये तो साफ़ हो गया है की विपक्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में मुस्लिम और दलितों का फिर से इस्तेमाल करने वाला है जैसे वो पहले भी करता आया है .

loading...